आपदा की घड़ी में भी परिवार नियोजन पर पूरा जोर

आपदा की घड़ी में भी परिवार नियोजन पर पूरा जोर
मुख्य बातें —

  • 11 जुलाई को मनाया जाएगा विश्व जनसँख्या दिवस
  • पखवाड़े के तहत होगा व्यापक प्रचार-प्रसार और गर्भ निरोधक साधनों का वितरण
    फतेहपुर 09 जुलाई 2020 । कोरोना संक्रमण के समय में सरकार परिवार नियोजन को लेकर पूरी तरह गंभीर है। ऐसे में परिवार नियोजन कार्यक्रमों को गति प्रदान करने के उद्देश्य से हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी जनपद में 11 जुलाई को विश्व जनसँख्या दिवस का आयोजन किया जाएगा।
    भारत सरकार की ओर से इस बार विश्व जनसँख्या दिवस पखवाड़े की थीम ‘आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की जिम्मेदारी’ तय की गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ- उमाकांत पांडेय ने इस सम्बन्ध में मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों और समस्त प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को पत्र के माध्यम से जरूरी निर्देश दिए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार कोविड महामारी में भी जनसँख्या स्थिरीकरण के लिए समाज को जागरुक करने के साथ साथ परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति प्रदान करना अहम है। इसके लिए विभिन्न स्तरों पर व्यापक व सघन प्रचार प्रसार किया जाना है। इसके लिए विश्व जनसँख्या दिवस पखवाड़ा दो चरणों में मनाया जाएगा। पहला चरण 27 जून से 10 जुलाई तक मनाया जा रहा है जिसमें व्यापक व सघन प्रचार-प्रसार के माध्यम से दंपत्ति संपर्क पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। वही 11 से 31 जुलाई तक “सेवा प्रदायगी जनसँख्या स्थिरता पखवाड़ा” मनाया जायेगा। सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार जिला व ब्लाक स्तर पर समय-समय पर सम्बंधित गतिविधियाँ आयोजित कराई जाएंगी व उनकी रिपोर्ट जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई को प्रेषित की जाएगी।-
    युवा जोड़ों को परिवार नियोजन के लिए प्रोत्साहित करना जरूरी
    फतेहपुर। जिला कार्यक्रम अधिकारी जया त्रिपाठी ने बताया कि देश के युवा जनसँख्या के एक महत्वपूर्ण हिस्से का गठन करते हैं। 20 से 49 वर्ष तक की 32-3 प्रतिशत महिलाएँ ही किसी भी आधुनिक गर्भनिरोधक विधि का प्रयोग कर रही हैं। इसमें सुधार के लिए जिला अस्पताल एवं स्वास्थ्य केन्द्रों के माध्यम से आधुनिक गर्भनिरोधकों जैसे अंतरा इंजेक्शन, छाया गर्भनिरोधक गोली आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। वहीं कोरोना संक्रमण के दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग मानकों के अनुसार वीएचएनडी के माध्यम से और आशा द्वारा घर-घर जाकर गर्भनिरोधक साधनों का वितरण किया जा रहा है। साथ ही युवा विवाहित जोड़ों को परिवार नियोजन साधन अपनाने के लिए प्रोत्साहित भी किया जा रहा है।

11 जुलाई को शुरू होगा विश्व जनसंख्या दिवस पखवारा

विश्व जनसंख्या दिवस (11 जुलाई) इस साल भी दो चरणों में मनाया जाएगा। परिवार कल्याण परामर्शदाता प्रताप सिंह ने बताया कि 27 जून से ही आशा और एएनएम की 330 टीमों ने जनपद भर में दंपतियों से संपर्क कर उन्हें परिवार नियोजन के अस्थाई और स्थाई साधनों के बारे में जानकारी देना शुरू कर दिया था और उनका नाम भी रजिस्टर्ड कर रही हैं। यह अभियान 10 जुलाई तक चलेगा। इसके बाद 11 से लेकर 31 जुलाई तक इन्हीं रजिस्टर्ड दंपतियों को परिवार नियोजन से जुड़े साधन मुहैया कराएं जाएंगे। इस बार पुरुषों को ज्यादा से ज्यादा नसबंदी के प्रति जागरूक करने की कोशिश की जाएगी। एएनएम को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। आशा बहुएं महिलाओं के बीच जाकर उन्हें नसबंदी के प्रति जागरूक करेंगी। अस्थाई साधनों में कंडोम, माला-एन, छाया टेबलेट का वितरण होगा। अंतरा इंजेक्शन और कॉपर टी के बारे में जानकारी दी जाएगी।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s