फतेहपुर शहर में जानवरों के लिए पानी की व्यवस्था

तेहपुर शहर में जानवरों के लिए पानी की व्यवस्था* ..
फतेहपुर युवा विकास समिति की पहल शहर के चौराहों में जानवर और और पंछियों के लिए पानी की व्यवस्था ! गर्मी में पानी को अमृत के समान माना जाता है, मनुष्य को प्यास लगती है तो वह कहीं भी मांग कर पी लेता है, लेकिन मूक पशु पक्षियों को प्यास में तड़पना है, हालांकि जब वे प्यासे होते हैं तो घरों के सामने दरवाजे पर आकर खड़े हो जाते हैं। कुछ लोग पानी पिला देते हैं तो कुछ लोग भगा भी देते है। इस गर्मी में पशु पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए लोगों को प्रयास करना चाहिए

गर्मियों में कई परिंदों व पशुओं की मौत पानी की कमी के कारण हो जाती है। लोगों का थोड़ा सा प्रयास घरों के आस पास उड़ने वाले परिंदों की प्यास बुझाकर उनकी जिंदगी बचा सकता है। सुबह आंखें खुलने के साथ ही घरों के आस-पास गौरेया, मैना व अन्य पक्षियों की चहक सभी के मन को मोह लेती है। घरों के बाहर फुदकती गौरेया बच्चों सहित बड़ों को भी अपनी ओर आकर्षित करती है। गर्मियों में घरों के आसपास इनकी चहचहाहट बनी रहे, इसके लिए जरूरी है कि लोग पक्षियों से प्रेम करें और उनका विशेष ख्याल रखें। जिले में गर्मी बढऩे लगी है। यहां का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पार हो जाता है। आने वाले दिनो में और अधिक गर्मी पडऩे की संभावना है। गर्मी में मनुष्य के साथ-साथ सभी प्राणियों को पानी की आवश्यकता होती है। मनुष्य तो पानी का संग्रहण कर रख लेता है, लेकिन परिंदे व पशुओं को तपती गर्मी में यहां-वहां पानी के लिए भटकना पड़ता है। पानी न मिले तो पक्षी बेहोश होकर गिर पड़ते हैं जिन्हें बचाने के लिए योगिता समिति के उपयोग से जुड़े ।

युवा विकास समिति के प्रदेश अध्यक्ष ज्ञानेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि फतेहपुर के बाकरगंज पुलिस चौकी के पास व शांति नगर चौराहे पर पानी की व्यवस्था की गई है । आने वाले समय में संगठन सभी चौराहों पर पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करेगा ।

इस अवसर पर शांति स्वरूप रूपम मिश्रा नगर अध्यक्ष अफताब , मुकेश , विकास, सनी यादि लोग रहे ।