बैंक व बीमा कार्यालयों में हों बचाव के सारे इंतजामछोटे-छोटे बदलाव ही कोरोना से बचाव में मददगार

जरूरी सावधानी अपनाएँ, खुद बचें-ग्राहक को भी बचाएं

  • बैंक व बीमा कार्यालयों में हों बचाव के सारे इंतजाम
  • छोटे-छोटे बदलाव ही कोरोना से बचाव में मददगार
    मनभावन अवस्थी की रिपोर्ट :फतेहपुर 19 मई-2020 । कोरोना वायरस यानि कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में चल रहे लाक डाउन के बीच भी बैंक व बीमा कार्यालय लगातार अपने ग्राहकों की सेवा में तत्पर हैं । हालाँकि, इस समय कोरोना के खतरे को देखते हुए कर्मचारियों और ग्राहकों दोनों की सुरक्षा चुनौती पूर्ण है । इन चुनौतियों का सामना जरूरी सावधानी बरतकर ही की जा सकती है । इस बारे में सरकार भी लगातार उन्हें कार्यप्रणाली में बदलाव लाने के साथ ही सुरक्षा मानकों के पालन करने को प्रेरित करने में जुट गयी है । कुछ बैंकों और बीमा कार्यालयों ने इन पर अमल करना भी शुरू कर दिया है ।
    कोरोना से खुद के साथ ग्राहकों को सुरक्षित बनाने के लिए कार्यालय में प्रवेश के समय और बाहर जाते समय हाथों को स्वच्छ रखने के लिए हैण्ड सेनेटाइजर का इंतजाम करने को कहा गया है । कैश काउंटर यानि नकदी से जुड़े कर्मचारी को बार-बार हाथ साफ़ करने की हिदायत दी गयी है । एटीएम के अन्दर एक बार में एक ही व्यक्ति के प्रवेश की अनुमति का सख्ती से पालन कराने को कहा गया है । इसके अलावा बैंक प्रबंधकों से यह भी कहा गया है कि जरूरी कामों के लिए जितने कम से कम कर्मचारियों की जरूरत हो उन्हीं को बुलाया जाए । चेक ड्राप बॉक्स बैंक के बाहर ही रखे जाएँ, इससे केवल चेक जमा करने के लिए बैंक आने वाले बाहर से ही चेक डालकर निकल जायेंगे और किसी तरह का खतरा भी नहीं रहेगा । एटीएम के गार्ड द्वारा भी ग्राहकों के हाथों की सफाई सुनिश्चित करानी चाहिए । इसके अलावा अनावश्यक भीड़ से बचने के लिए काउन्टर पर एक बार में एक ही ग्राहक को अनुमति दी जानी चाहिए । पूछताछ से जुड़े कर्मचारी के बैठने की व्यवस्था कार्यालय के प्रवेश द्वार के पास ही होना चाहिए ताकि जिन ग्राहकों को ज्यादा जरूरी हो वही दफ्तर के अन्दर तक जाएँ ।
    बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक त्रिलोचनपुर के शाखा प्रबंधक कृष्ण चंद्र वर्मा का कहना है कि बैंकों में लेन-देन का काम ज्यादा होता है चाहे वह पास बुक इंट्री की बात हो, चेक बुक लेना हो या कैश जमा या निकासी की । इन स्थितियों में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा कुछ ज्यादा ही होता है । इसके लिए जरूरी है कि जब भी बैंक जाएँ तो उतने ही सामनों को लेकर जाएँ जो बहुत जरूरी हों । संभव हो तो हैण्ड सेनेटाइजर खुद अपने पास रखें और बैंक में प्रवेश करते समय और निकलते समय हाथों को स्वच्छ कर लें, मास्क/गमछा/रूमाल या स्कार्फ से मुंह व नाक को ढककर रखें, काउंटर पर एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, जिन कागजों को छूना या काउन्टर पर जाना जरूरी हो वहीँ पर जाएँ । यही छोटी-छोटी सावधानी बरतकर आप खुद के साथ बैंक कर्मचारियों को कोरोना के वार से सुरक्षित कर सकते हैं ।

बैंक व बीमा कार्यालयों में हों बचाव के सारे इंतजामछोटे-छोटे बदलाव ही कोरोना से बचाव में मददगार

जरूरी सावधानी अपनाएँ, खुद बचें-ग्राहक को भी बचाएं

  • बैंक व बीमा कार्यालयों में हों बचाव के सारे इंतजाम
  • छोटे-छोटे बदलाव ही कोरोना से बचाव में मददगार
    मनभावन अवस्थी की रिपोर्ट :फतेहपुर 19 मई-2020 । कोरोना वायरस यानि कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में चल रहे लाक डाउन के बीच भी बैंक व बीमा कार्यालय लगातार अपने ग्राहकों की सेवा में तत्पर हैं । हालाँकि, इस समय कोरोना के खतरे को देखते हुए कर्मचारियों और ग्राहकों दोनों की सुरक्षा चुनौती पूर्ण है । इन चुनौतियों का सामना जरूरी सावधानी बरतकर ही की जा सकती है । इस बारे में सरकार भी लगातार उन्हें कार्यप्रणाली में बदलाव लाने के साथ ही सुरक्षा मानकों के पालन करने को प्रेरित करने में जुट गयी है । कुछ बैंकों और बीमा कार्यालयों ने इन पर अमल करना भी शुरू कर दिया है ।
    कोरोना से खुद के साथ ग्राहकों को सुरक्षित बनाने के लिए कार्यालय में प्रवेश के समय और बाहर जाते समय हाथों को स्वच्छ रखने के लिए हैण्ड सेनेटाइजर का इंतजाम करने को कहा गया है । कैश काउंटर यानि नकदी से जुड़े कर्मचारी को बार-बार हाथ साफ़ करने की हिदायत दी गयी है । एटीएम के अन्दर एक बार में एक ही व्यक्ति के प्रवेश की अनुमति का सख्ती से पालन कराने को कहा गया है । इसके अलावा बैंक प्रबंधकों से यह भी कहा गया है कि जरूरी कामों के लिए जितने कम से कम कर्मचारियों की जरूरत हो उन्हीं को बुलाया जाए । चेक ड्राप बॉक्स बैंक के बाहर ही रखे जाएँ, इससे केवल चेक जमा करने के लिए बैंक आने वाले बाहर से ही चेक डालकर निकल जायेंगे और किसी तरह का खतरा भी नहीं रहेगा । एटीएम के गार्ड द्वारा भी ग्राहकों के हाथों की सफाई सुनिश्चित करानी चाहिए । इसके अलावा अनावश्यक भीड़ से बचने के लिए काउन्टर पर एक बार में एक ही ग्राहक को अनुमति दी जानी चाहिए । पूछताछ से जुड़े कर्मचारी के बैठने की व्यवस्था कार्यालय के प्रवेश द्वार के पास ही होना चाहिए ताकि जिन ग्राहकों को ज्यादा जरूरी हो वही दफ्तर के अन्दर तक जाएँ ।
    बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक त्रिलोचनपुर के शाखा प्रबंधक कृष्ण चंद्र वर्मा का कहना है कि बैंकों में लेन-देन का काम ज्यादा होता है चाहे वह पास बुक इंट्री की बात हो, चेक बुक लेना हो या कैश जमा या निकासी की । इन स्थितियों में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा कुछ ज्यादा ही होता है । इसके लिए जरूरी है कि जब भी बैंक जाएँ तो उतने ही सामनों को लेकर जाएँ जो बहुत जरूरी हों । संभव हो तो हैण्ड सेनेटाइजर खुद अपने पास रखें और बैंक में प्रवेश करते समय और निकलते समय हाथों को स्वच्छ कर लें, मास्क/गमछा/रूमाल या स्कार्फ से मुंह व नाक को ढककर रखें, काउंटर पर एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, जिन कागजों को छूना या काउन्टर पर जाना जरूरी हो वहीँ पर जाएँ । यही छोटी-छोटी सावधानी बरतकर आप खुद के साथ बैंक कर्मचारियों को कोरोना के वार से सुरक्षित कर सकते हैं ।

जनपद की शिक्षा प्रणाली में सरलीकरण ,व समस्याओं के निदान के सम्बंध में ,,,

सेवा में, माo जिला विद्यालय निरीक्षक जनपद फतेहपुर विषय, जनपद की शिक्षा प्रणाली में सरलीकरण ,व समस्याओं के निदान के सम्बंध में ,,, महोदय, विनम्रनिवेदन के साथ अभिभावकों की पीड़ा से अवगत कराते वंचित छात्र छात्राओं को शुलभ उच्च कोटि की शिक्षा प्रदान किये जाने हेतु अभिभावकों का निवेदन है कि 1, यह कि जनपद के समस्त सरकारी विद्यालयों में निर्धन व मध्यमवर्गीय छात्र छात्राओं की उच्च शिक्षा हेतु इंग्लिश मीडियम शिक्षा सहित समस्त प्रकार की आधुनिक शिक्षा का आवंटन 2, यह कि जनपद के समस्त सी o बी o एसo सी, एवम आई o एसo सी o बोर्ड विद्यालयों में निर्धारित नियन्त्रित मासिक शिक्षा मासिक शुल्क व सरकार द्वारा आवंटित पुस्तको का आवंटन, 3, यह कि जनपद के समस्त सी,बी, एस, सी, एवम आई, एस, सी, बोर्ड के विद्यालयों में प्रत्येक वर्ष एडमिशन शुल्क ,,विकास शुल्क प्रत्येक वर्ष प्रकाशन पाठ्य क्रम का स्थानांतरण पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाया जाए,, यह कि कोरोना लॉक डाउन के अन्तर्गत पिछले अनेक माह से निर्धन एवम मध्यम वर्ग के अभिभावकों की नोकरी, रोजगार व्यापार आदि पूर्णतः प्रतिबन्ध रहा, वजह से समस्त अभिभावक किसी भी प्रकार की आय से वंचित बने रहे, अतः निवेदन है छात्र छात्राओं के बेहतर व नियमित शिक्षा व भविष्य हेतु कोरोना लॉक डाउन काल के अन्तर्गत छात्र छात्राओं की 6 माह की शिक्षण मासिक फीस माफ की जाए, एवम वार्षिक एडमिशन शुल्क पर रोक सहित पूर्व पाठ्यक्रम का आवंटन किया जाना सुनिश्चित किया जाए, अतः निवेदन के साथ उद्योग व्यापार मण्डल एवम समस्त अभिभावक छात्र छात्राओं के बेहतर भविष्य व अभिभावकों की सहजता हेतु उपरोक्त मांग आपसे करता है, सादरअभिवादन सहित मांगपत्र देने वालो में मनोज साहू, प्रेमदत्त उमराव, कृष्ण कुमार तिवारी, अंचल रस्तोगी, मनोज कुमार मिश्रा, गुरुमीत सिंह, चन्द्र प्रकाश बब्लू गुप्ता, अशरफ अली, सौरभ श्रीवास्तव सहित अनेक पदाधिकारी अभिभावक उपस्थित रहे।

फतेहपुर जनपद के लिए बुरी खबरआज 11 और मिले कोरोना पॉजिटिव,जनपद में हुए अब तक 20 कोरोना पॉजिटिव

जनपद वासियों के लिए बुरी खबर
आज 11 और मिले कोरोना पॉजिटिव,
जनपद में हुए अब तक 20 कोरोना पॉजिटिव

तेलियानी ब्लाक के
धारुपुर से एक, रावतपुर से एक, ठिठौरा से एक,
मलवां ब्लाक के
फरीदपुर से तीन
ऐरायां ब्लाक के
सेमौरी से एक
धाता ब्लाक के
हलीमपुर से एक
बहुआ ब्लाक के
सेमौर से एक
विजयीपुर ब्लाक के
गुदौरा से एक, रामपुर से एक
कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले।

जिले में एक साथ 11 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से मचा हड़कम्प

धनंजय ट्रेडर्स 51 परिवारों को दिया सहारा कोविड-19 की लड़ाई में निभाई अहम भूमिका

धनंजय ट्रेडर्स 51 परिवारों को दिया सहारा कोविड-19 की लड़ाई में निभाई अहम भूमिका

नीरज सिंह की रिपोर्ट:-चौडगरा फतेहपुर जनपद के मलवा विकासखंड के अभयपुर ग्राम प्रधान पुत्र प्रतिनिधि संजय सिंह के साथ धनंजय ट्रेडर्स के सहयोग से 51 गरीब पात्र परिवारों को 5 किलो आटा चावल 3 किलो आलू सहित तेल नमक की समुचित व्यवस्था कराते हुए। लोगों से महामारी से निपटने में हर संभव मदद का आश्वासन देते हुए लोगों को घरों में रहने की दी सलाह बिना काम के बाहर न घूमें व लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की दी जानकारी जहां ग्रामीणों ने लगातार प्रतिनिधि द्वारा किए जा रहे हैं नेक व सराहनीय कार्य की प्रशंसा करते हुए प्रधान प्रतिनिधि के द्वारा किए गए कार्यों पर संतुष्टि जाहिर की

जागरूकता ही कोरोना का बचाओ – सूर्यप्रकाश

जागरूकता ही कोरोना का बचाओ – सूर्यप्रकाश

चौडगरा फतेहपुर
नीरज सिंह की रिपोर्ट :- मलवां विकास खण्ड के ग्राम पंचायत शिवराजपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय में निगरानी समिति की बैठक में ग्राम प्रधान आंगनबाड़ी आशा बहू ने ग्रामीणों को जागरूक किया। सामाजिक दूरी व साफ-सफाई बनाए रखने की ग्राम प्रधान ने अपील किया।
विकासखंड मलवां क्षेत्र के ग्राम पंचायत शिवराजपुर में रवीवार को ग्राम प्रधान सूर्यप्रकाश की अध्यक्षता में निगरानी समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में ग्राम पंचायत आंगनवाड़ी आशा बहू के साथ साथ ग्रामीणों ने हिस्सा लिया। बैठक को संबोधित करते हुए ग्राम प्रधान सूर्यप्रकाश ने कहा कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सामाजिक दूरी बेहद जरूरी है। उन्होंने ग्रामीणों से अपील की कि बाहर से आने वाले लोगों को 21 दिनों होम क्वॉरेंटाइन में ही रखें जिससे आप और आपका परिवार सुरक्षित रहे। प्रधान ने कहा कि एक स्थान में भीड़ एकत्रित होकर लोग ना खड़े हो भीड़ का हिस्सा बनने से बचें स्वयं सुरक्षित रहें और दूसरों को जागरूक करें। कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोनावायरस में जनभागीदारी से ही कोरोना के संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है। आप सभी आंगनबाड़ी और आशा को अपने अपने वार्ड की जिम्मेदारी सौंपी है।
इस मौके पर आंगनवाड़ी आदि मौजूद रहीं।

समस्त ट्रेडों के व्यापारिक प्रतिष्ठानो को खोलने हेतु अनुमति करने के सम्बंध में ,,

उद्योग व्यापार मण्डल उत्तर प्रदेश नीलकंठ पैलेस पटेलनगर फतेहपुर पंजीयन संख्या, 630,2016,2017 ,पत्रांक 18520, दिनांक 18 मई20 । निवेदन पत्र माo जिलाधिकारी जनपद, फतेहपुर विषय, समस्त ट्रेडों के व्यापारिक प्रतिष्ठानो को खोलने हेतु अनुमति करने के सम्बंध में ,, महोदय, विनम्र निवेदन के साथ अवगत कराना है कि विगत 2 माह से कोरोना लॉक डाउन के अन्तर्गत आपके आदेशानुसार विभिन्न ट्रेडों के प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से बन्द है, शासन प्रशासन व आपके निर्देशानुसार समस्त व्यापारियों ने आपके आदेश व निर्देश का पालन करते प्रतिष्ठान बन्द रखे, वजह से निर्धन, व मध्यम वर्ग का व्यापार व रोजगार पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो चुका है, बन्द व्यापार रोजगार की वजह से व्यापारी, व्यापारी का परिवार, व व्यापारी प्रतिष्ठान से जुड़ा कर्मचारियो की जीवन शैली बुरी तरह प्रभावित हो चुकी है, प्रभावित जीवन शैली की वजह से अनेक प्रकार के संकटों का सामना करता व्यापारी कर्मचारी पूर्णतः लाचार व आहात बना हुआ है,,, अतः, उद्योग व्यापार मण्डल विनम्र निवेदन के साथ व्यापारी, व्यापारी के परिवार, एवम कर्मचारियों हेतु सविनय निवेदन करता है समस्त ट्रेडों के व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने हेतु अनुमति प्रदान की जाए, ताकि व्यापारी अपना सूक्ष्म व्यापार करके अनेक प्रकार की समस्याओं से निजात पा सके,, सादरअभिवादन सहित,, किशन मेहरोत्रा, संस्थापक अध्यक्ष, उद्योग व्यापार मण्डल,मनोज साहू, प्रेमदत्त उमराव, गुरुमीत सिंह, अशरफ अली, चन्द्र प्रकाश, बब्लू गुप्ता, अंचल रस्तोगी, मनोज कुमार मिश्रा, राहुल गुप्ता, सौरभ श्रीवास्तव, व अन्य पदाधिकारीगण

फतेहपुर जिले में बिना चेकअप क्वारंटाइन के गांव में पहुंच रहे परदेसी बाबू

दिलीप कुमार की रिपोर्ट:-फतेहपुर जिले के स्थानीय थाना क्षेत्र में इन दिनों लगभग पां

हजारो की संख्या में परदेसी बाबू अपने गांव की तरफ लौटे हैं। जैसे हुसैनगंज ,मलवा,जहानाबाद, धाता सहित असोथर कस्बे के सर्वोदय इंटर कॉलेज में जांच व क्वारंटाइन करने का प्रबंध जिला प्रशासन द्वारा किया गया है।
बताते चलें कि यह जांच व जिला प्रशासन द्वारा किया गया प्रबंध उस तरीके से प्रभावी नहीं है, जितना कि इस महामारी में होना चाहिए।
जनपद में इन दिनों लगातार कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं जनपद अब तक कुल 9 कोरोना संक्रमित मरीज हो चुके हैं !
जिससे क्षेत्र के बुद्धिजीवी लोगों का कहना है कि लापरवाही के चलते ही जनपद अन्य कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या न बढ़ जाएं ..
सीएचसी और पीएचसी स्तर पर भी इंतजाम नाकाफी साबित हो रहें हैं , केवल थर्मल स्क्रीनिंग कर परदेशी बाबुओं को उनके गांव भेजा जा रहा हैं कहीं – कहीं पर अशिक्षित और अजागरूक गैर प्रदेशों आएं ट्रक व पैदल व चोरी छिपे आये श्रमिक बिना जांच क्वारंटाइन के सीधे अपने घरों में छुपकर बैठें हैं!
थानाक्षेत्र के विधातीपुर गांव में पिछले एक सप्ताह के अंदर ही लगभग 25 से 30 गैर प्रदेशों में कार्य करने वाले श्रमिक वापस लौटे हैं , जिनमे कुछ तो सरकार के नियम – कायदों का पालन कर रहें हैं , वह गांव से कुछ दूर खेत खलिहानों बागों पर क्वारंटाइन हैं , जबकि कुछ लापरवाह गैरजिम्मेदार श्रमिकों के लिए सारे नियम कायदे ठेंगे पर हैं रविवार की शाम को मुंबई से वापस लौट कर आएं श्रमिक सीधे अपने घरों में ही चले गए , गांव के कुछ लोगों के विरोध करने पर वह घर से बाहर निकले , गांव वालों ने कहा कि जब आप सब अपनी जांच व
चौदह दिनों तक बाहर क्वारंटाइन रहें फिर घरों में सबके साथ रहना ..
बाहर से आएं श्रमिकों को स्थानीय पुलिसकर्मी अपने थाना क्षेत्र से दूसरे थाना में पहुंचा कर मामले से अपना पल्ला झाड़ रहे हैं!
थाना क्षेत्र में समुचित व्यवस्था होने के बाद भी उसका संचालन ठीक ढंग से न होने के कारण लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है!
जिसका नतीजा यह है कि परदेसी बाबू की जांच ठीक ढंग से न करके व क्वारंटाइन न करके उनके घरों के लिए भेज दिया जा रहा है!
वहीं तमाम लोग इस बीमारी के चलते परदेश से आने वाले लोगों के कारण इस महामारी को लेकर काफी भयभीत हैं !

एक हफ्ते से कर रहे गैर प्रांत से आए प्रवासी मजदूरों की मदद

प्रधान प्रतिनिधि समाजसेवी बने प्रेरणा स्त्रोत

1 हफ्ते से कर रहे गैर प्रांत से आए प्रवासी मजदूरों की मदद

मीनू बनाकर खाद्य राहत सामग्री का करते वितरण

नीरज सिंह की रिपोर्ट :-चौडगरा फतेहपुर जनपद की मलवां विकासखंड के अभयपुर ग्राम प्रधान प्रतिनिधि पुत्र संजय सिंह के साथ समाजसेवी राकेश यादव की अगुवाई में संपन्न लोग, संस्थान, एनजीओ, स्वयंसेवी संगठन, सहित अनेक लोगों को प्रेरित करते हुए। गैर जनपद से आए लोगों की मदद के लिए एक कदम बढ़ाते हुए। कड़ाई के साथ ग्राम सभा के सरकारी विद्यालय में होम क्वारेंटाइन, आइसोलेशन की व्यवस्था करते हुए। प्रतिदिन मीनू के आधार पर लगातार एक हफ्ते से खाद्य राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है। सराहनीय पहल पर ग्रामवासी व सेंटर में मौजूद गैर जनपद से प्रवासी मजदूर एवं ग्रामीण ग्राम प्रधान प्रतिनिधि व समाजसेवी के पहल पर संतोष प्रकट करते हुए खुशी जताई। जानकारी के अनुसार शनिवार को अभयपुर जूनियर विद्यालय, बड़ा खेड़ा जूनियर, दरियापुर जूनियर, नया खेड़ा विद्यालय में 3kg नमकीन, एक बोरी लाइ, का वितरण प्रत्येक विद्यालय में कराया गया वह दूसरे दिन रविवार को केला, 100 ग्राम दूध, चीनी सही तो शाम को नाश्ते में दो समोसे घर से बनवा कर प्रत्येक व्यक्ति को वितरण करने का सराहनीय कार्य की जमकर प्रशंसा की जा रही है।
ग्राम प्रधान पुत्र प्रतिनिधि संजय सिंह ने बताया कि सभी के सहयोग से कोविड-19 की लड़ाई में देश के विषम परिस्थितियों में छोटा सा सहयोग ग्राम सभा के प्रवासी मजदूरों के साथ जिम्मेदारी का बोध लोगों को कराया जा रहा है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर ग्रामवासी हमें सूचित करें हरसंभव मदद की जाएगी।

समाजसेवी राकेश यादव ने बताया कि आम ग्रामीणों की समस्या व प्रवासी मजदूरों को ध्यान में रखते हुए ग्राम सभा अभयपुर के अंतर्गत आने वाले गरीब शोषित वंचित परिवारों की हर संभव मदद के लिए हमेशा की तरह खड़ा हूँ। कोविड-19 की लड़ाई में देश के साथ शासन प्रशासन हर कदम पर सहयोग व सेवा भाव के तहत सहयोग करने के लिए तैयार हूं।